HomeCareer optionsएसडीएम कैसे बनते है-SDM full form in Hindi

एसडीएम कैसे बनते है-SDM full form in Hindi

यदि आप एसडीएम क्या है और एसडीएम कैसे बनते हैं इस प्रकार की जानकारी की खोज में है तो आज आप बिल्कुल सही जगह पर हैं इस लेख में मैंने SDM full form in Hindi के साथ-साथ एसडीएम बनने के लिए योग्यता, परीक्षा और सिलेबस, परीक्षा की तैयारी आदि की जानकारी को देने का प्रयास किया है इसलिए उसे पूरा जरूर पढ़ें|

भारत में अधिकतर माता-पिता की इच्छा होती है कि उनके बच्चे सरकारी अधिकारी बने या कहीं ना कहीं छात्रों की भी इच्छा होती है कि वह एक सरकारी अधिकारी के रूप में खुद को प्रदर्शित करें ऐसे इच्छुक विद्यार्थियों के लिए एसडीएम बहुत ही बेहतरीन ऑप्शन हो सकता है लेकिन एसडीएम बनने के लिए यूपीएससी जैसी बड़ी परीक्षा को पास करना होता है जिसके लिए कड़ी मेहनत और आत्मविश्वास की आवश्यकता होती है|

एसडीएम की पोस्ट भारत के उच्च पोस्ट में गिनी जाती है इसलिए एसडीएम बनना कठिन माना जाता है इस आर्टिकल में मैंने एसडीएम से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी दी है और यूपीएससी क्या है और इसका सिलेबस क्या होता है इस प्रकार की जानकारी आपके साथ शेयर की है तो चलिए शुरू करते हैं

एसडीएम कौन होता हैSDM in Hindi

एसडीएम का फुल फॉर्म Sub-Divisional Magistrate है एसडीएम किसी जिले के उपखंड का मुख्य अधिकारी होता है साथ ही एसडीएम उपखंड में लागू कानून और वहां की व्यवस्था की जिम्मेदारी निभाता है|

आमतौर पर एसडीएम राज्य सिविल सेवा का एक अधिकारी होता है और एक जिले में उपस्थित सभी तहसील एसडीएम के अधीन होते हैं, उपखंड में होने वाले प्रशासनिक और राजस्व कार्य, भूमि रिकॉर्ड, सीमांकन और अतिक्रमण जैसे बहुत से कार्य एसडीएम के अंदर आते हैं|

एसडीएम का फुल फॉर्मSDM full form in Hindi

SDM full form- Sub-Divisional Magistrate

SDM full form in Hindi- उप-प्रभागीय न्यायाधीश

एसडीएम कैसे बने-How to become SDM in Hindi

एसडीएम बनने के लिए आपका 12वी पास होना चाहिए साथ ही आपके पास किसी की मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी स्ट्रीम की डिग्री होनी चाहिए, यदि आप 12th पास हैं या आपके पास डिग्री है तो आपको एसडीएम बनने के लिए यूपीएससी परीक्षा को पास करना है यूपीएससी परीक्षा पास करने पर आप एक आईएस बनेंगे जिसके बाद आपको एसडीएम की पोस्ट दी जाएगी|

अब आप समझ गए होंगे कि एसडीएम बनने के लिए सबसे पहले आपको CSE(Civil Services Exam) को पास करना होगा, CSE परीक्षा को UPSC द्वारा प्रतिवर्ष कराया जाता है, CSE परीक्षा को UPSC ही कहां जाता है क्योंकि इस परीक्षा को पास करने के बाद देश के बड़े पद जैसे IAS, IPS, IFS आदि के लिए छात्र को नियुक्त किया जाता है|

यूपीएससी एग्जाम को देने के लिए आप में कुछ जरूरी योग्यताएं होनी चाहिए तभी आप यह परीक्षा दे पाएंगे योग्यताएं इस प्रकार हैं|

>12th के बाद क्या करे|

>IIT क्या है तैयारी कैसे करे|

>बैंक मैनेजर कैसे बने|

एसडीएम बनने के लिए योग्यता-Eligibility

  • यूपीएससी परीक्षा में बैठने के लिए सबसे प्रथम आपका भारतीय होना आवश्यक है|
  • साथ ही आपका 12 वीं पास होना चाहिए और आपके पास किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से डिग्री होनी चाहिए|
  • यदि आप अपनी डिग्री के Final year या Final Semester में है तब भी आप यूपीएससी के लिए योग्य है या यूपीएससी एग्जाम दे सकते हैं|

Age Limit

General21 से 32 साल के बिच
OBC21 से 35 साल के बिच
SC/ST21 से 37 साल के बिच
विकलांग(Disabled)21 से 42 साल के बिच

Number of Attempt

General6 Attempt
OBC9 Attempt
SC/STकोई सीमा नहीं, 37 वर्ष की Age तक

एसडीएम बनने के लिए परीक्षा

जैसा कि आप जानते हैं इस डीएम बनने के लिए पहले आईएएस बनना होगा और आईएएस बनने के लिए आपको यूपीएससी एग्जाम को क्लियर करना होगा|

यूपीएससी परीक्षा कैसे होती है

SDM full form in Hindi उप-प्रभागीय न्यायाधीश होता है इसलिए SDM बनने के लिए UPSC परीक्षा देनी होती है यूपीएससी परीक्षा को पास करने या क्लियर करने के लिए आपको तीन पेपर या तीन प्रकार की परीक्षाएं देनी होती है-

  1. Preliminary Exam(प्राथमिक परीक्षा)
  2. Mains Exam(मुख्य परीक्षा)
  3. Interview(साक्षात्कार)

Preliminary Exam

यूपीएससी परीक्षा के फॉर्म भरने पर यह सबसे पहली परीक्षा होती है इस परीक्षा में आपको दो पेपर देने होते हैं दोनों पेपर 200-200 मार्क्स यानि 400 नंबर के होते हैं हर पेपर में 2 घंटे का समय मिलता है साथ ही यहां पर 1/3 की Negative Marking होती है और प्रत्येक पेपर में Objective Type Multiple Choice Question होते हैं|

Paper-1-General Knowledge-इस पहले पेपर में आपसे General Knowledge और National और International से जुड़े के General Studies और Current Affairs के Question पूछे जाते हैं|

Syllabus of Paper 1

Economic DevelopmentSocial DevelopmentIndian Politics
World GeographyCurrent EventsIndian History
Indian GeographyGeneral IssuesGeneral Science

Paper-2-Civil Services Aptitude Test(CSAT)

यूपीएससी प्राथमिक परीक्षा के इस दूसरे पेपर को CSAT कहते हैं इस पेपर में आपको Communication Skill, तर्क, Comprehension और Logical Reasoning से जुड़े प्रश्न आते हैं साथ ही Dickson Making और Problem-solving से जुड़े प्रश्न भी आते हैं|

Syllabus of Paper 2

Basic Numeracy Language skill(आपके द्वारा चुनी गयी भाषा)Mental Ability
Problem-solving ability English Comprehension Decision-making skills
Intrapersonal Skills English Skills Communicational Skills

Mains Exam

Preliminary Exam का पहला पड़ाव पार करने के बाद आपको यूपीएससी Mains Exam का दूसरा पड़ाव पार करना होता है UPSC मुख्य परीक्षा में आपको 9 पेपर देने होते हैं जो कुल 1750 अंक के होते हैं शुरुआत के 7 पेपर 250 अंक के होते हैं तथा आखरी के 2 पेपर तीन सौ मार्क्स के होते हैं प्रत्येक पेपर को हल करने में 3 घंटे का समय दिया जाता है और यूपीएससी परीक्षा के सभी पेपर Descriptive Type पेपर यानी कि प्रत्येक प्रश्न का उत्तर लिखना होता है|

Qualifying या Compulsory पेपर-जिस प्रकार आप ऊपर Mains परीक्षा की टेबल में देख सकते हैं कि सबसे पहले आपको दो Language(भाषा) के पेपर देने होते हैं Paper-1 में आपको English भाषा से जुड़े प्रश्नों के उत्तर देने होते हैं और Paper-2 मैं आपको आपके द्वारा फॉर्म भरते समय भाषाओं की लिस्ट में से किसी एक अन्य भाषा को चुनना होता है उस भाषा का यहां पेपर होता है|

Paper-1/Paper-2 का पैटर्न समान होता है-

  • Grammar(40 Marks)
  • Translation(आपके द्वारा चुनी गयी भासा)(20 Marks)
  • English Translation(20 Marks)
  • Comprehension(60 Marks)
  • Precis Writing(60 Marks)
  • Essay(100 Marks)

यह दोनों पेपर केवल Qualifying पेपर होते हैं इन दोनों पेपर मैं केवल आपको पास होना होता है|

General Studies Papers

Mains Exam में शुरुआत के दो Language के पेपर देने के बाद आपको General Studies के चार पेपर देने होते हैं जिसमें प्रत्येक पेपर 250 अंक होता है और हर पेपर को करने के लिए 3 घंटे का समय दिया जाता है, साथ भी प्रत्येक पेपर का Syllabus भी अलग-अलग होता है|

General Studies-1-Indian Culture, Geography

SocietyIndian Culture
History of the worldModern Indian History
Events, Forms, and Effects on SocietyGeography

General Studies-2-Indian Politics and Constitution

Public Services Constitution Of India Political System
Control over Public ExpenditureAdministrative LawAmendment Procedure
Social Welfare & Social LegislationThe Electoral Process
Central & State Government PrivilegesCentral Government & Administration

General Studies-3-Technology & Science

BiotechnologyEconomy
Disaster ManagementEnvironment
Computer and Information TechnologyEnergy
Nuclear Policy Of IndiaSpace Technology
AgricultureSecurity

General Studies-4-Ethics &Human Interface

Ethics and Human InterfaceEmotional Intelligence
Public Service Values And Ethics in Public AdministrationIntegrity
Probity in GovernanceAttitude
Aptitude

Essay Paper- इस पेपर में Exam paper में दिए गए Topic में से किसी एक Topic पर Essay(निबंध) लिखना होता है यह पेपर भी 3 घंटे और 250 अंक का होता है|

Optional Subjects- Optional Subject में आपको दो पेपर देने होते हैं यह दोनों पेपर आपके द्वारा चुने गए 48 Subject में से किसी एक Subject के दोनों पेपर होते हैं|

48 Subject इस प्रकार हैं-

 1. Agriculture10. Zoology 19. Physics
2. Animal Husbandry and Veterinary Science11. Geology20. Political Science & International Relations
3. Commerce & Accountancy 12. History21. Psychology
4. Botany13. Law22. Public Administration
5. Chemistry14. Management23. Sociology
6. Civil Engineering15. Mathematics24. Statistics
7. Anthropology 16. Mechanical Engineering25. Geography
8. Economics17. Medical Science
9. Electrical Engineering18. Philosophy

literature optional subjects

1. English9. Telugu17. Bengali
2. Nepali10. Tamil18. Bodo
3. Marathi11. Sindhi19. Dogri
4. Manipuri12.Santhali20. Gujarati
5. Malayalam13. Sanskrit21. Hindi
6. Maithili14. Punjabi22. Kannada
7. Konkani15. Oriya23. Urdu
8. Kashmiri16. Assamese

Interview(साक्षात्कार)

जब आप Preliminary और mains परीक्षा को पास कर लेते है तब आपका तीसरा और आखरी पड़ाव Interview होता है, यह 275 marks का होता है इस Interview मैं आपका व्यक्तिगत कोसल और मानसिक छमता का परीक्षण किया जाता है साथ ही आपकी मानसिक सतर्कता और तार्किक तर्क क्षमता, उचित निर्णय और बौद्धिक क्षमता का परीक्षण सवाल या परिस्थितिया दे कर लिया जाता है इंटरव्यू के सब्जेक्ट को समझे तो यह केवल एक प्रश्न उत्तर सेशन है जिसमें व्यक्तित्व परीक्षण के साथ Current Affairs’ और सामान्य ज्ञान के प्रश्न पूछे जाते हैं|

Preliminary, Mains और Interview इन तीनो परीक्षाओ को पास करने पर आपको IAS(Indian Administration Services) का दर्जा दिया जाता है, और IAS ऑफिसर बनने के बाद आपको SDM का पद दिया जायेगा|

UPSC की तैयारी कैसे करे

SDM full form in Hindi और SDM बनने के लिए UPSC परीक्षा देनी होती है यह तो आप जान चुके है लेकिन UPSC जैसी बड़ी परीक्षा को पास करने के लिए आपको कुछ निम्न बिन्दुओ का ध्यान रखना होगा|

Syllabus/Study Material- यूपीएससी सबसे कठिन परीक्षा अपने Syllabus के कारण ही मानी जाती है इसमें देश, दुनिया, संविधान, इतिहास जैसे बड़े-बड़े Subject से सवाल किए जाते हैं इसलिए यूपीएससी को समझने के लिए सबसे जरूरी है उसके सिलेबस को समझना|

Syllabus समझने के बाद आपको Study Material की और ध्यान देना चाहिए क्योंकि सभी Study Material तो उपलब्ध है लेकिन वह सही है या नहीं यह जानना जरूरी होता है आप Study Material किसी Top Coaching का ले सकते हैं साथ ही यूपीएससी की तैयारी के लिए कोचिंग भी join कर सकते हैं|

Deep Study- यूपीएससी Prelims में Objective Type और Mains में Descriptive Type Question पूछे जाते हैं इसलिए यूपीएससी के प्रत्येक Subject का गहराई से अध्ययन करना भी बहुत आवश्यक है|

Strategy- देश में यूपीएससी जैसी बड़ी परीक्षा की तैयारी लाखों स्टूडेंट करते हैं ऐसे में सभी का यूपीएससी पास कर पाना तो संभव नहीं होता लेकिन यदि आप अपनी Strategy को बेहतर तरीके से Manage करें साथ ही अपने समय को Utilize करें तो आपका यूपीएससी क्लियर करने के चांस और भी बढ़ जाते हैं|

Current Affairs-यूपीएससी परीक्षा पूरी तरह से आपके Knowledge testing पर Based होती इसलिए आपको अपने ज्ञान को बढ़ाने का प्रयास करते रहना है Current Afairs और GK के लिए प्रतिदिन आप GK Books और Newspaper पड़ सकते है|

Coaching- यूपीएससी की तैयारी के लिए भारत में कोचिंग सबसे बेहतर मानी जाती है क्योकि कोचिंग में यूपीएससी क्लियर करने के लिए कोचिंग द्वारा हर जरुरी चीज़ो पर ध्यान दिया जाता है साथ ही कोचिंग से Guidance भी बेहतर मिलती है यदि आप चाहे तो कोचिंग भी ज्वाइन कर सकते है|

Confidence and Concentration- यूपीएससी बहुत ही कठिन परीक्षा होती है इसे पास करना हर किसी के बस में नहीं होता है इसलिए यूपीएससी की तैयारी में एकाग्रता बहुत ही आवश्यकता होती है हर दिन पढ़ाई करते रहना और अपने ज्ञान को बढ़ाना ही यूपीएससी पास करने का एक तरीका होता, है एकाग्रता और आत्मविश्वास ही जीवन में समस्याओं को हल करने में सहायता करते हैं यूपीएससी परीक्षा भी इसी एकाग्रता और आत्मविश्वास के बल पर पास की जा सकती है|

एसडीएम के कार्य-SDM work in Hindi

SDM को उपखण्ड की कई जिम्मेदारियों को पूरा करना होता है, एक SDM की जिम्मेदारी या कार्य इस प्रकार है-

  • आपातकालीन स्थितियों, क्षेत्रीय विवादों का निपटारा, आपदा प्रबंधन|
  • राजस्व मामलो का संचालन|
  • भू-पंजीकरण, सार्वजानिक भूमि का सरक्षण|
  • विवाह पंजीकरण, जन्म एवं निवास प्रमाण पत्र|
  • सीमांकन और अतिक्रमण से निपटारा| चुनाव आधारित कार्य|
  • प्रशासनिक और न्यायिक कार्य|

एसडीएम की सैलरी कितनी होती है-SDM Salary

एसडीएम को शुरुआती समय में लगभग 56100 रूपये की सैलरी दी जाती है अनुभव बढ़ने पर सैलरी भी बढ़ती रहती है, एसडीएम को सैलरी के साथ और भी बहुत सी सुविधाएं दी जाती है जैसे सरकारी आवास, सुरक्षाकर्मी वाहन, मुफ्त बिजली आदि|

पीएससी से एसडीएम कैसे बनते हैं-SDM in Hindi

PSC भी यूपीएससी की तरह ही एक परीक्षा है यह एक स्टेट लेवल परीक्षा है, यह परीक्षा भारत के अलग अलग राज्यों द्वारा अलग अलग ली जाती है जैसे मध्य प्रदेश के लिए MPPSC, बिहार के लिए BPSC आदि ,इस परीक्षा मैं पास होने पर Candidate को Deputy Collector का दर्जा दिया जाता है जिसके बाद उसे SDM की पोस्ट दी जाती है|

एसडीएम और डिप्टी कलेक्टर के बीच का अंतर-Difference between SDO and SDM

SDM और Deputy Collector में कोई विशेष अंतर तो नहीं होता है लेकिन कुछ मात्रा में अंतर है जैसे Deputy Collector के पास राजस्व शक्तियां होती है यानी कि Deputy Collector राज्य सरकार द्वारा दी जाने वाली शक्तियों का उपयोग करता है साथ ही SDM के पास दाण्डिक शक्तियां होती है लेकिन यह दाण्डिक शक्तिया न्यायिक शक्तियो से अलग होती है|


इस पोस्ट को पढ़कर आपको कैसा लगा यह जरूर बताएं और यदि आप एसडीएम बनने का सोच रहे हैं या एसडीएम बनने के लिए तैयारी कर रहे हैं तो हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं आप जरूर कामयाब हो, साथ ही हमारा सदैव यह प्रयास रहता है कि प्रत्येक विद्यार्थी को उसके विद्यार्थी जीवन में कुछ बेहतर करने के लिए उसके पास सभी प्रकार की जानकारी हो, इसलिए Jitubaba पर हम प्रतिदिन परीक्षाओ से जुडी जानकारी लाते रहते है|

इस लेख SDM full form in Hindi और एसडीएम कैसे बनते है से आपको कुछ सीखने को मिला होतो इसे अपने परिजनों के साथ WhatsApp, Facebook, Instagram पर Share जरूर करे, इस पोस्ट से जुड़ा आपके पास कोई सवाल हो या इस पोस्ट मैं कोई गलती हो तो हमे कमेंट करके जरूर बताये|

Jitendra Aakdehttps://jitubaba.com
Welcome दोस्तों, मैं jitubaba का Author हूँ. मैं एक Computer Engineer हूँ. मुझे नए नए ज्ञान को प्राप्त करना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मैं आपसे निवेदन करता हु की आप इसी तरह मेरा सहयोग देते रहिये और मैं आपके लिए इसी प्रकार की नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाता रहूँगा| धन्यवाद

2 COMMENTS

  1. SDM बनने के लिए कितने घंटे पढ़ना पड़ता है? और क्या SDM के बहुत पैसे होते है?

    • किसी भी परीक्षा को पास करने के लिए कोई निश्चित समय तक पड़ना जरुरी नहीं है जरुरी है आप किस तरह उस Syllabus को पड़ते है और कितने कम समय मैं ज्यादा से ज्यादा ज्ञान ले सकते है यदि आप आपसे पहले SDM बनने वाले लोगो के बारे मैं और उनकी Strategy के बारे मैं जानेंगे तो आपको और भी सहायता मिलेगी|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here